Hindi Poem by Falguni Shah : 111557419

पहचान
तुम मिले
तो कई जन्म 
मेरी नब्ज़ में धड़के
तो मेरी साँसों ने तुम्हारी साँसों का घूँट पिया
तब मस्तक म

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories