Hindi Thought by Saroj Verma

आत्मदर्शन..!!

आत्मा ना कभी वृद्ध होती है और ना कभी मर सकती है, अतः इसे अजर और अमर कहा जाता है, उसमे अपरिमित ज्ञान,अप

read more
Shiv Shanker Gahlot 5 month ago

बहुत सुन्दर आलेख । अज्ञानता ही दुखों के मूल में है । सही कहा आपने । शिव शंकर गहलौत जी. शिवशंकर के नाम से तीन बहनें कहानी का लेखक

View More   Hindi Thought | Hindi Stories