Hindi Shayri by Arjuna Bunty : 111539405

जिंदगी अब तो जेल से कम नहीं लगती
और पिताजी लगते है जेलर
क्या बताऊं वादियों में न जाने कब से नहीं गया
न देखा मै

read more
Ketan Vyas 1 month ago

Interesting words and thoughts...👌🏾👌🏻👌🏽👌 Visit my link for your precious Likes and Comments..👇👇👇👇👇👆👆👆👇👇 https://quotes.matrubharti.com/111543098

Baloch Anvarkhan 1 month ago

पिताजी जेलर नहीं है आपका भविष्य देख कर चलता है

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories