Gujarati Poem by Dhrupa Patel : 111526732

खफा हे वो यह कह के की हमें उनकी कद्र नहीं,
     खफा हे वो यह कहके की हमे उनकी कद्र नहीं।

हम आज भी वहीं खडे हैं जहां

read more

View More   Gujarati Poem | Gujarati Stories