Gujarati Shayri by KALPESH PARGHI : 111526509

ना तुम दुर जाना, ना हम दुर जायेंगे, अपने अपने हिस्से कि दोस्ती हम नीभायेंगे,बहुत अच्छा लगेगा जींदगी का ऐ सफर तुम वहास

read more
Ketan Vyas 2 month ago

https://quotes.matrubharti.com/111535527

View More   Gujarati Shayri | Gujarati Stories