Hindi Shayri by Raje. : 111525695

हरबार मैं ही मीलने आऊं तुझसे,
एक आद बार तु भी आ जाना ।
हरबार मैं ही आऊं तेरे सपनों में,
अच्छा नहीं लगता,
एक आद ब

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories