Hindi Thought by Pragya Chandna

अभी भी वक्त है संभल जाओ और इस प्रकृति को यूं न हानि पहुंचाओ।
यदि तुम ठीक हो जाओ और अपनी गलतियों से कुछ सीख लो
तो य

read more

View More   Hindi Thought | Hindi Stories