Free Hindi Poem Quotes by vikas kushwah | 111492309

उत्साही मन तू कहां जा रहा है
नीली सी स्याही में डूबा जा रहा है

उत्साही तन तू कहां जा रहा है
शब्दों के जाल में

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories