Free Hindi Romance Quotes by Kinjal Goswami | 111488485

गुस्ताखी तो कातिल निगाहों की थी जो आपका दिदार कर बैठी लेकिन जमाने ने दिल को कुसूरवार ठेहरा दिया
-kinjal

RJ_Ravi_official 1 year ago

कोई काश उनसे पूछे जो ग़मों से भागते हैं वो कहाँ पनाह लेंगे जो ख़ुशी न रास आई

shekhar kharadi Idriya 1 year ago

यकीनन... बहुत खूब..

View More   Hindi Romance | Hindi Stories