Hindi Shayri by vishwash hanswar : 111487310

सूखे जख्मों को
उसने फिर हरा कर दिया
मेरी प्यास को
मोहब्बत से गीला कर दिया।
#गी

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories