Hindi Shayri by Shubhendu Bhushan Tripathi : 111467892

ना चाँद चाहिए
ना फलक चाहिए,
चाहे ख्वाबो में ही क्यु ना दिखो
मुझे बस तुम्हारी एक झलक चाहिए।

❣️

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories