Hindi Shayri by Chintan Patel : 111433784

#💔🤐🤐

*🌹✍हसरतें कुछ और हैं..*
*वक्त की इल्तजा कुछ और है..*

*कौन जी सका है...*
*ज़िन्दगी अपने मुताबिक...*

*दि

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories