English Thought by Tanvi... Who Loves To Write.. : 111407672

तेरी यादो की कैद से अब छुट नहीं सकते,

बिखर गये हैं,
इस से ज्यादा अब तूट नहीं सकते,

अश्को से ही पुछ लो अब दि

read more

View More   English Thought | English Stories