Quotes, Poems or Blogs | Matrubharti

हाँ कल आई थी वो ख़्वाब में और मैंने पहचानने से इंकार कर दिया ,
जो हक़ीक़त में साथ नहीं ,उससे ख़्वाबों में क्या वास्त

read more

View More   Hindi Whatsapp-Status | Hindi Stories