Hindi Thought by Kinar Rana : 111388259

सोचती रहती में कई बार,
बसंत क्यों इतराती हर बार?
जब थामा आपने मेरा हाथ,
समझमें आई

read more

View More   Hindi Thought | Hindi Stories