Hindi Shayri by alpprashant : 111324624

हर चहेरे में हम चहेरा तेरा ठूंठ ते है
ख़ुद से ही हम ख़ुद का पता पूछते है

©"अल्प" प्रशांत
Prashant Panchal
०८.०१.२०२०

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories