Hindi Poem by Saroj Prajapati : 111320003

कल क्या होगा इस फिक्र में
आज को अपने, क्यों धुआं करें यारों।

जिंदगी के हर एक पल का
खुलकर मजा लो मेरे यारों।
read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories