Hindi Shayri by Sarita Sharma : 111298268

इंसाफ मांग रहे है जो हमदर्द जिसका,
बता दो फिर कोई बराबर की सजा,
है कोई सजा उस डर के बराबर,
जिसे महसूस किया है लौ न

read more
... 1 year ago

Ya.. Good good Keep it up... ????

Sarita Sharma 1 year ago

Mb पर रहकर अब इतनी सिख ली है..और google translate बना इसलिए ही है..

... 1 year ago

Google translate करना अच्छी बात नही ??

Sarita Sharma 1 year ago

हांजी..

... 1 year ago

ઓહ.. તો તો બહું સારું કહેવાય..

Sarita Sharma 1 year ago

अब ऐसा भी नही की गुजराती कुछ भी नही आती.. इतना समझ आता है..

... 1 year ago

ओह सोरी मे बुल गया था की आप गुजराती से वाकिफ नही...? वाह क्या बात हे....✌?

Sarita Sharma 1 year ago

धन्यवाद..

... 1 year ago

વાહ શું વાત છે...✌?

મોહનભાઈ આનંદ 1 year ago

શુભ સવાર નમસ્કાર

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories