Hindi Shayri by Kaustubhi V Joshi KVJ : 111275931

उन्होंने आज़ादी ले ली
हम से मशवरा किये बगैर
हम भी मजबूर हो गए
आजादी देने के लिए उन्हें
बिना कोई सवाल किए ।

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories