Hindi Shayri by alpprashant : 111262995

शिद्दत से याद किया होगा आज फ़िर से उसने हमें
बेमतलब तो कभी भी आती नहीं थी हिचकियां हमें

©"अल्प" प्रशांत
Prashant Pan

read more

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories