Hindi Shayri by Suryakant Majalkar

जरा आईना देखो कैसे चमक रहा है। ये भी तुमको लाजवाब कह रहा है।

View More   Hindi Shayri | Hindi Stories