Hindi Poem by Rajan Singh : 111160135

स्वर्ण-चाँदी मणि जवाहर क्यों नहीं अब माँगती हैं?
पूछिये तो बेटियों से बेटियाँ क्या चाहती हैं............

जीव जीवांत

read more

View More   Hindi Poem | Hindi Stories